HomeBiographyकौन है द्रौपदी मुर्मू जो इस बार बनी है राष्ट्रपति उम्मीदवार कैसे...

कौन है द्रौपदी मुर्मू जो इस बार बनी है राष्ट्रपति उम्मीदवार कैसे मिली देश पहचान ?

कौन है द्रौपदी मुर्मू : आज हम आपको देश में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में प्रतिभागी द्रौपदी मुर्मू के बारे में बताने वाले है | कौन है द्रौपती मुर्मू कैसे मिली देश में इनको पहचान | और क्या क्या है इनकी योग्यता | देखे पूरे लेख में |

द्रौपदी मुर्मू कौन है – Who is Draupadi Murmu ?

आपको बता दे द्रौपदी मुर्मू एक आदिवासी महिला नेता है, जो कि मोदी सरकार के द्वारा राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में पहली पसंद है | अभी वर्तमान में वे झारखंड की पहली महिला आदिवासी राज्यपाल के पद पर नियुक्त है |

कौन है द्रौपदी मुर्मू जो इस बार बनी है राष्ट्रपति उम्मीदवार कैसे मिली देश पहचान ?

द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय|Draupadi Murmu Biography in Hindi

आपको बता दे हाल ही में इनको भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि “इस बार पार्टी नेताओं के बीच राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए 20 नामों पर चर्चा हुई और द्रौपदी मुर्मू के काम को देखते हुए उनको भाजपा की ओर से राष्ट्रपति पद के लिए चुना गया है | अगर वो ये चुनाव जीतती हैं, तो वे राष्ट्रपति बनने वाली पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति होगी | द्रौपदी मुर्मू को भारत सरकार के द्वारा Z+ सुरक्षा प्राप्त है |

आपको बता दे द्रौपदी मुर्मू ने भाजपा में रहते हुए कई प्रमुख भूमिकाएँ निभाईं है, उन्होंने एसटी मोर्चा पर राज्य अध्यक्ष और मयूरभान के भाजपा जिलाध्यक्ष के रूप में कार्य किया है | साल 2007 में मुर्मू को ओडिशा विधानसभा द्वारा वर्ष का सर्वश्रेष्ठ विधायक होने के लिए “नीलकंठ पुरस्कार” से सम्मानित किया गया था | वही साल मई 2015 में, भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें झारखंड के राज्यपाल के रूप में चुना | वह झारखंड की पहली महिला राज्यपाल हैं |आपको बता दे वह ओडिशा की पहली महिला और आदिवासी नेता भी हैं, जिन्हें ओडिशा राज्य में राज्यपाल के रूप में नियुक्त किया गया था |

जन्म और परिचय (कौन है द्रौपदी मुर्मू)

आपको बता दे द्रौपदी मुर्मू जन्म साल 20 जून 1958 को ओडिशा के मयुरभंज जिले के बैदोपोसी गाँव में आदिवासी समुदाय में हुआ था | उनके पिता का नाम बिरंची नारायण टुडू है | द्रौपदी मुर्मू की शादी श्याम चरण मुर्मू के साथ हुई है, जिनका स्वर्गवास हो चूका है | उनके दो बेटे भी थे, जो कि अब इस दुनिया में नहीं है | उन्होंने अपना जीवन राष्ट्र के लिए समर्पित किया है और वह अपनी बेटी इतिश्री मुर्मू के सहारे अपना जीवन जीती है | उन्होंने अपनी स्कूल की शिक्षा निजी स्कूल से प्राप्त की एवं राम देवी महिला कॉलेज भुवनेश्वर,ओडिशा से कला स्नातक में ग्रेजुशन की डिग्री प्राप्त की है

व्यक्तिगत जानकारी (Draupadi Murmu Personal Information) (कौन है द्रौपदी मुर्मू)

  1. पूरा नाम           – द्रौपदी मुर्मू
  2. जन्म                – 20 जून 1958
  3. जन्म स्थान         – मयूरभंज, उड़ीसा, भारत
  4. गृहनगर            –  बलदापोसी गांव, मयूरभंज, ओडिशा
  5. उम्र (2022 में)   – 64 साल
  6. पेशा                – राजनीतिज्ञ
  7. पिता का नाम     – स्वर्गीय बिरंची नारायण टुडू
  8. माता का नाम     – ज्ञात नहीं
  9. पति का नाम      – श्याम चरण मुर्मु
  10. बेटी का नाम      – इतिश्री मुर्मु
  11. जातीयता           – संथाल जनजाति [2]
  12. पता                 – ग्राम बलदापोसी, पीओ-रायरंगपुर, डब्ल्यू नंबर -2 जिला, मयूरभंज, ओडिशा
  13. शिक्षा               – कला स्नातक
  14. स्कूल/विद्यालय    –  के.बी. एचएस उपरबेड़ा स्कूल, मयूरभंज
  15. कॉलेज             – राम देवी महिला कॉलेज, भुवनेश्वर,ओडिशा
  16. राजनेतिक         – पार्टी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)
  17. धर्म                 – हिन्दू
  18. राशि               – मिथुन (Gemini)
  19. कद                – 5’ 4” फीट
  20. आँखों का रंग     – काला
  21. बालो का रंग      – काला
  22. शौक/अभिरुचि   –  पढ़ना और बुनाई करना

कौन है द्रौपदी मुर्मू जो इस बार बनी है राष्ट्रपति उम्मीदवार कैसे मिली देश पहचान ?

राजनितिक करियर (कौन है द्रौपदी मुर्मू)

आपको बता दे द्रौपदी मुर्मू ने रायरंगपुर में श्री इंटीग्रल एजुकेशन सेंटर में एक सहायक शिक्षक के रूप में अपनी शुरूआत की थी, इसके बाद उन्होंने सिंचाई और बिजली विभाग में ओडिशा सरकार के साथ काम किया | आपको बता दे ये एक आदिवासी समाज की एक पढ़ीलिखी महिला है, जिसके कारण उनके उपर अपने समाज के प्रति कई जिम्मेदारी थी | द्रौपदी मुर्मू ने अपना जीवन समाज की सेवा, गरीबों, दलितों तथा हाशिए पर खड़े लोगों को सशक्त बनाने के लिए समर्पित किया है |

S S Rajamouli Biography in Hindi : एस एस राजामौली का जीवन परिचय

द्रौपदी मुर्मू की कुछ अन्य जानकारियां

साल 1997 में उन्हें ओडिशा के रायरंगपुर के जिला पार्षद के रूप में चुना गया था। उसी वर्ष उन्हें रायरंगपुर के उपाध्यक्ष के रूप में चुना गया।

  1.  साल 2000 के विधानसभा चुनाव में वह रायरंगपुर निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा के मंत्री के रूप में चुनी गईं और 2004 तक वह परिवहन, वाणिज्य, मत्स्य पालन और पशुपालन विभाग की प्रभारी रहीं।
  2.  साल 2004 में वह रायरंगपुर निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा के विधायक के रूप में दोबारा से चुनी गईं।
  3. उन्होंने मयूरभंज में भाजपा की जिलाध्यक्ष और साल 2006 से 2009 तक भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष के रूप में कार्य किया।
  4.  साल मई 2015 में उन्हें झारखंड की पहली राज्यपाल महिला के रूप में चुना गया। उन्होंने और साल 2021 तक राज्यपाल के रूप में कार्य किया।
  5.  साल 2022 में उन्हें बीजेपी की तरफ से भारतीय राष्ट्रपति चुनाव में राष्ट्रपति की उम्मीदवार के रूप में नामित किया गया |

पुरूस्कार (कौन है द्रौपदी मुर्मू)

पुरस्कार/उपलब्धियां साल 2007 में उन्हें ओडिशा विधान सभा द्वारा सर्वश्रेष्ठ विधायक के लिए “नीलकंठ पुरस्कार” से सम्मानित किया गया।

धन संपत्ति संबधित विवरण (कौन है द्रौपदी मुर्मू)

संपत्ति चल संपत्ति

  1.  नकद: रु. 1,80,000
  2. बैंकों, वित्तीय संस्थानों और गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों में जमा: रु. 5,05,000
  3. एलआईसी या अन्य बीमा पॉलिसियां: रु. 1,30,000
  4. आभूषण: रु. 2,60,000
  5. कुल संपत्ति रु. 6,10,000 (2009 के अनुसार)

इनसे जुड़ी कुछ रोचक जानकारियां (कौन है द्रौपदी मुर्मू)

  1. आपको बता दे द्रौपदी मुर्मू एक भारतीय राजनेत्री हैं, जिन्हें भारतीय जनता पार्टी की तरफ से 2022 के भारतीय राष्ट्रपति चुनाव के उम्मीदवार के रूप में जाना जाता है |
  2. द्रौपती मुर्मू को बचपन से ही राजनीतिक में लगाव था क्योंकि जब वह छोटी थी, तब उनके पिता और दादा ग्राम प्रधान थे।
  3. वर्ष 1997 में राजनीति में आने से पहले, वह श्री अरबिंदो इंटीग्रल एजुकेशन एंड रिसर्च सेंटर, राजगांगपुर में सहायक प्रोफेसर थीं। उन्होंने 1979 से 1983 तक ओडिशा के सिंचाई विभाग में एक कनिष्ठ सहायक के रूप में भी काम किया |
  4. उन्होंने अपने बच्चों की देखभाल के लिए 1983 में अपनी सरकारी नौकरी छोड़ दी थी।
  5. वर्ष 2015 में वह झारखंड की नौवीं और पहली राज्यपाल महिला बनीं।
  6. वर्ष 2016 में प्रत्यूषा बनर्जी के माता-पिता ने द्रौपदी से मुलाकात की और अपनी बेटी की मौत की सीबीआई जांच का अनुरोध किया।
  7. वर्ष 2016 में मुर्मू ने घोषणा किया कि वह रांची के कश्यप मेमोरियल आई अस्पताल में मृत्यु के बाद अपनी आंखें दान करेंगी।
  8. वर्ष 2018 में रक्षा बंधन के अवसर पर ब्रह्माकुमारी निर्मला ने द्रौपदी को राखी बांधकर रक्षा बंधन के त्योहार को और भी आकर्षक बनाया।

द्रौपदी मुर्मू के कुछ इंटरव्यू में कही बातें

“मुर्मू ने कहा कि अपने बेटों और पति की मृत्यु के बाद अवसाद से लड़ने के लिए मैंने ब्रह्माकुमारी निर्मला का अनुसरण करना शुरू कर दिया था।”

“लाखों लोग, विशेष रूप से वह जिन्होंने गरीबी का अनुभव किया है और कठिनाइयों का सामना किया है, श्रीमती के जीवन से बहुत ताकत मिलती है। द्रौपदी मुर्मू जी के नीतिगत मामलों उनकी समझ और दयालु स्वभाव से हमारे देश को बहुत फायदा होगा।”

“उनकी उम्मीदवारी एकदम सही है और उन्होंने हमेशा लोगों के मुद्दों को उठाया है। अपने कार्यकाल के दौरान, जब भी आदिवासियों या महिलाओं पर अत्याचार की खबरें आती थीं, तो वह अक्सर डीजीपी या अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को बुलाती थीं।”

Virat Kohli Biography in Hindi : विराट कोहली का जीवन परिचय

कौन है द्रौपदी मुर्मू जो इस बार बनी है राष्ट्रपति उम्मीदवार : उम्मीद है आज आपको हमारा ये आर्टिकल कौन है द्रौपदी मुर्मू जो इस बार बनी है राष्ट्रपति उम्मीदवार की बायोग्राफी पसंद आया होगा | इन्होने टीवी सीरियल के एक बड़े अभिनेता है | जिसकी वजह से आज इनके करोड़ो फैन्स है |आगे भी हम आपके लिए कुछ ऐसे आर्टिकल लायेंगे अगर आपको ये पसंद आया तो दोस्तों के साथ लिखे और शेयर करना न भूले |

 

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

Most Popular

%d bloggers like this: