Cyclone Yaas Latest News:चक्रवाती तूफान कहाँ से आया और क्या है यास का अर्थ

Cyclone Yaas Latest News: अभी अभी देश में ताउते तूफान ने तबाही मचाई थी अब फिर एक बार देश में यास तूफान तबही लाने को तैयार है |ये देश के ओडिशा (Odisha) तट पर धामरा बंदरगाह और बालासोर के बीच 185 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दस्तक दे सकता है.लेकिन बंगाल (West Bengal) से भी गुजरने की उम्मीद है. दोनों राज्य हाई अलर्ट पर हैं. चक्रवात की गंभीरता को देखते हुए कोलकाता एयरपोर्ट से सभी उड़ानों को निलंबित कर दिया गया है. और कोलकाता एयरपोर्ट की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक एयरपोर्ट से 26 मई की सुबह 8.30 बजे से शाम 7.45 बजे तक सभी उड़ानें निलंबित रहेंगी| खतरे भरे इलाखो  को सरकार द्वारा खली कराया जा रहा है |और NDRF की टीम को भी अलर्ट पर रखा गया है |

Cyclone Yaas Latest News: कहाँ से आया तूफान यास

तूफान की वजह से हवाओं की रफ्तार इस समय 50 किलोमीटर प्रति घंटा है. इस तूफान का केंद्र पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता से करीब 750 किलोमीटर दूर बताया जा रहा है. सुनने माया है कि साइक्‍लोन यास ओमान की तरफ से आया है और ये 48 घंटों तक रहेगा. इस दौरान तूफान की स्थिति ख़राब रहा सकती है और इसका असर उत्‍तर-पश्चिम की तरफ से ओडिशा और पश्चिम बंगाल में खास तौर पर देखने को मिल सकता है |मोंसम विभाग के  अनुमान के मुताबिक 25 मई की देर रात या 26 मई की सुबह के समय इसकी वजह से भारी बारिश की आशंका है.और पश्चिम बंगाल और ओडिशा दोनों ही राज्‍यों में तूफान की स्थिति से निबटने के लिए तैयारियां कर ली गई हैं.

ताऊते चक्रवात (तूफ़ान) कहां से आ रहा है देखिये अब तक कहाँ पंहुचा और क्या हुआ ?

क्या है यास का मतलब

इस साइक्‍लोन का नाम यास रखा गया है और यह नाम इसे ओमान की तरफ से दिया गया है. एक तय प्रक्रिया के आधार पर इसका नाम रखा जाता है. आपको बता दें कि साइक्‍लोन का नाम क्षेत्र में मौजूद देशों के आधार पर क्रमबद्ध तरीके से तय किया जाता है. यास इस फारसी भाषा का शब्‍द है जिसका मतलब अंग्रेजी में जैस्मिन होता है.

Buddha Purnima 2021:कब है बुद्ध पूर्णिमा,जाने इसका महत्व

Cyclone Yaas Latest News:कहाँ कहाँ रहेगा इसका असर

आंध्र प्रदेश, पुडुचेरी और तमिलनाडु के तटों पर भी यास तूफान का असर दिखेगा. इस तूफान की वजह से झारखंड, छत्तीसगढ़, बिहार के साथ-साथ अंडमान और निकोबार द्व. पर भी इसका असर देखने को मिलेगा |सरकार द्वारा सभी तटीय वाले जगह पर नज़र रखी जा रही है |पश्चिम बंगाल के मेदिनीपुर, उत्‍तर और दक्षिण 24 परगना, हावड़ा और हुगली जिले में मंगलवार और बुधवार को भारी से बहुत भारी बारिश होने का अनुमान है। IMD के अनुसार, 26 और 27 मई को मुर्शिदाबाद, मालदा, दक्षिण दिनाजपुर, बीरभूम, बांकुरा, पुरुलिया और बर्धमाल जिलों में भी भारी बारिश होगी।इसका असर बिहार पर भी पड़ेगा. सीमांचल सहित पूरे बिहार पर इस साइक्लोन का असर रह सकता है |