Chameli Flower Grow Plant in Hindi : चमेली का फूल का पौधा ?

Chameli Flower Grow Plant in Hindi : आज हम आपको जासमीन के पौधे के बारे में बताएँगे |जिसे आप चमेली के पौधे के नाम से भी जानते होंगे |चमेली का फूल भारत के ज्यादातर हिस्सों में पाया जाता है |इस फूल को भारत की रात की रानी भी कहते है |ये फूल खुबसूरत दिखने के साथ साथ बहुत अच्छी खुशबू होती है |जो आपके मष्तिष्क को तरोताजा कर सकती है |
अगर आप भी अपने घर को खुशबू से महकना चाहते है |तो इस फूल को अवश्य लगाए |वही हमारे हिन्दू धर्मं में भी पूजा में इस फूल का इस्तेमाल किया जाता है |तो आज हम आपको बताएँगे ये फूल कितने तापमान में बेहतर खिलता है |कब इसमें फूल लगते है |और कैसे आप इसकी देखभाल करे | ये सब बाते जानने के लिए पढ़ते रहे आर्टिकल |

चमेली के फूल कितने महीनो तक खिलते हैं?

आपको बता दे की चमेली के फूल मार्च के अंत से लेकर अक्टूबर की शुरआत तक खिलते है। सर्दी में इसमें इन पोधो के ऊपर फूल आना बंद हो जाते है। यह पौधा एक सामान्य सफ़ेद चमेली का पौधा लगभग 20 से 30 फीट तक बढ़ सकता है| और इसके अलावा इसका फैलाव 7 से 15 फुट तक हो सकता है।

Winter Flowering Plants in Hindi : सर्दियों में कौन से फूल लगाएं?

चमेली का पौधा कैसे लगाएं – How to Grow Chameli Flower in Hindi

आज हम आपको चमेली के पौधे को कैसे लगाए इस बारे में बताएँगे |आप इसे दो तरीको से लगा सकते है |आप इसे कटिंग से लगा सकते है |कटिंग से आप इसे जल्दी से ग्रो कर सकते है |और कैसे आप इसे बीज से लगा सकते है इस बारे में भी हम आपको बताएँगे |जाने |

कटिंग से कैसे लगाए चमेली का पौधा – How to Grow Chameli Plant from Cuttings in Hindi

आप जानते ही है चमेली का पौधा लगकर आप अपने गार्डन की शोभा बढ़ा सकते है |इस फूल को कटिंग से लगाना ज्यादा आसान होता है |आप इस पौधे की एक हेल्दी कटिंग लेकर उसे जल्दी से ग्रो कर सकते है |जानिये सारे स्टेप कैसे लगाये कटिंग |

  1. आपको सबसे पहले चमेली की हेल्दी कलम लेनी होंगी |जिसकी कलम की 4 से 5 कलम निकाल ले |यह कलम हेल्दी होनी चाहिए |जिनका आकार कम से कम 5 से 7 इंच का होना चाहिए |और मोती पेंसिल के जितनी हो |और कलम भूरे रंग की हो न की हरी | और आप से सफाई का ध्यान रखे जिस टूल का भी इस्तेमाल करे |
  2. आपको कलम निकालते वक़्त एक बात का हमेशा ध्यान रखे की आपको कलम पत्ती के ठीक निचे से काटे |क्योंकि जड़े निकलने की संभावना सबसे ज्यादा वही रहती है |आप इसके लिए तेज धार वाला चाकू या कांची का इस्तेमाल ही करे |
  3. अब आपकी सभी कलम तैयार है |अब आपको रूटिंग हार्मोन लेना है |सभी जड़ो को रूटिंग हार्मोन में 5 मिनट किये डुबो कर रखा देना है |अगर आपके पास रूटिंग हार्मोन नहीं है तो पानी में डाल कर रख दे | 

पोटिंग मिक्स तैयार करे 

  1. अब आपको पोटिंग मिक्स तैयार करना होगा |इसके लिए आपको 40 % गार्डन की मिटटी और 30 % रेत और 30 % वर्मी कम्पोस्ट या वर्मी कम्पोस्ट लेना है |अब मिट्टी को अच्छी तरह से मिक्स कर ले |और एक गमले लेना होगा |
  2. गमला लेने से पहले एक बात का हमेशा ध्यान रखे उसमे निचे एक छेद होना चाहिए |ताकि गमले में होने वाला एक्स्ट्रा पानी बाहर निकल सके वरना पौधा सड़ सकता है |अब आप गमले में मिट्टी भरकर 3 से 4 इंच की गहराई में उन कलम को लगा देना है | 
  3. कटिंग को लगाने के बाद आप उस पर पानी से स्प्रे कर दे |किसी छाव वाले एरिया में रख देना है |और गमले में आपको नमी बनाये रखना है |
  4. अगर आपने ये पौधा गर्मी में लगाया है तो इसे सीधे धुप वाली जगह पर न रखे |इसे आप की छाव वाली जगह पर रखे |क्योंकि सीधी धुप आपके पौधे को नुक्सान पहुंचा सकती है |जैसे ही कटाई में पत्तियां आनी शुरू हो जाए |फिर आप इसे धुप में रख सकते है |
  5. जब आपका ये पौधा बड़ा हो जाए तब आप इसे एक बड़े गमले में शिफ्ट कर सकते है |

चमेली के पौधे की देखभाल कैसे करें – How to Care Chameli Plant in Hindi

  1. ऐसे में ये पौधा लगाने से पहले एक अच्छा पोटिंग मिक्स को तैयार करना बहुत ज़रूरी होता है। इसके लिए आपको गार्डन की मिटटी, बालू, और वर्मीकम्पोस्ट या cow डंक कम्पोस्ट का एक अच्छा मिश्रण बनाकर उसमे लगाना चाहिए।
  2. अगर चमेली और मोगरा का पौधा दोनों एक जैसे ही होते है। ऐसे में अगर आपके घर में मोगरा का फूल का पौधा है | तो इन्ही बातों का ध्यान रख कर आप अपने मोगरा के पौधे के लिए भी रखने। आपको बता दे इस प्लांट को सर्दियों में ज्यादा पानी की ज़रुरत नहीं होती है।ऐसे में सर्दियों के दौरान गमले में हमेशा हलकी नमी बनाकर रखे और ओवर वाटरिंग से बचे |
  3. आपको बता दे की चमेली के पौधे को धुप की बहुत अच्छी लगती है।ऐसे में आप इसे गर्मियों में आप इसे सूरज की धुप में जरूर रखने। जिससे ये पौधा स्वस्थ रहता है। और इन दिनों इसको गर्मियों के दौरान इसके अंदर पानी की कमी ना होने दें। आप चाहे, तो गर्मियों में अपने पौधे प्रत्येक दिन भी पानी दे सकते है।
  4. इस पौधे में फूलो के खिलने का मौसम फरवरी से अक्टूबर का रहता है। बस सर्दियों में यह फूल खिलना बंद हो जाते है। अगर आपके पौधे पर सिर्फ पत्तियां आती है, और फूल कम आते है। ये उसका कारण हो सकता है |अगर आपने अपना पौधा किसी छाया वाली जगह पर रखा है तो जगह बदल दे और पौधे को धुप में वाली जगह पर रखे कुछ दिन में फूल आना शुरू हो जाते है।

कुछ और आवश्यक बाते 

  1. आपको बता दे सर्दियों के अंत में यानी की फरवरी के महीने में इसमें फिर से फूल आना शुरू हो जाते है | इसके लिए आपको हमेशा दिसंबर से जनवरी के बीच में पौधे की प्रूनिंग मतलब कटिंग यानी की जो लम्बी शाखाएं होती है। उनको काट देना चाहिए। और पौधे को खाद देनी चाहिए।
  2. आप अगर चमेली की बेल नहीं रखना चाहते |इसके लिए आप इसकी समय समय पर कटिंग करते रहे |और महीने में एक बार पौधे के आकर के अनुसार इसकी गुड़ाई करके इसमें गोबर या वर्मी खाद को डालना चाहिए।
  3. जब आपके चमेली के पौधे पर कीड़े लग गए है | तो इसके लिए आप नीम के तेल को पानी में मिला कर अच्छी तरह से उसका स्प्रे पूरे पौधे कर सकते है। जिससे आपका पौधा स्वस्थ रहता है। महीने में आपको दो चम्मच यूरिया खाद दो से तीन लीटर पानी में घोलकर वह भी पौधे की जड़ के चारो और डाल सकते है।
  4. आप जब भी पौधे को खाद दें, चाहे वह वर्मीकम्पोस्ट हो या कोई भी लिक्विड फर्टीलाइजर, हमेशा पौधे की जड़ से कुछ दुरी पर उसके चारो और डालना चाहिए।

पारिजात का पौधा कैसे लगाये : How to Grow Parijat Plant in Hindi

Chameli Flower Grow Plant in Hindi – आज हमने बताया कैसे आप घर पर आप चमेली का पौधा कैसे लगा सकते है |ये पौधा बेहद खुबसूरत होता है जिससे आपका गार्डन और भी सुदर लगेगा है |जिससे आप घर की सुख शान्ति और समृधि को बढ़ा सकते है |इसलिए घर पर ये पौधा ज़रूर लगाए |और आप अपने गार्डन की सुन्दरता और भी बढ़ा सकते है | आपको ये हमारा आर्टिकल पसंद आया है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर ज़रूर करे और लिखे करे |और कमेंट करके बताये |